करनाल के जश हत्याकांड में पुलिस जांच पूरी: मर्डर की वजह का खुलासा कल SP पुनिया करेंगे; हत्यारोपी चाची अंजलि और ताई-दादी काे भेजा गया जेल

0
221
Quiz banner

[ad_1]

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Karnal
  • Jash Murder Case; Cause Of Murder Psycho, Murderer Anjali, Tai Dhanwanti, Who Killed The Dead Body, Dadi Sorande Will Be Sent To Jail Today

करनाल16 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

हरियाणा के जिले करनाल के गांव कमालपुरा में 5 साल के जश हत्या के मामले में गिरफ्तार चाची अंजलि, ताई धनवंती और दादी सौरनदे का आज रिमांड पूरा हो गया।। तीनों को कोर्ट के आदेश पर न्यायिक हिरासत में भेजा गया। वहीं पुलिस अधीक्षक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर हत्या के कारण काें कल खुलासा करेंगे।

Advertisement

इंस्पेक्टर मोहन लाल ने बताया कि अभी कोई अन्य आरोपी बाकी नहीं है। पुलिस की जांच पूरी हो चुकी है। तीनों आरोपियाें का आगे रिमांड नहीं मांगा गया। कुछ रिपोर्ट आनी बाकी है। जो आज शाम या कल सुबल तक आ जाएंगे। इसके बाद एसपी साहब प्रैसवार्ता में पूरी खुलासा करेंगे।

सूत्रों के मुताबिक हत्या का कारण कुछ और नहीं बल्कि अंजलि का साइको होना है। पुलिस अधीक्षक गंगाराम पुनिया ने कहा कि लगभग पूछताछ पूरी हो चुकी है। तीनों आरोपी महिलाओं को आज कोर्ट में पेश किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जल्द ही पूरे मामले को स्पष्ट कर दिया जाएगा।

बता दें कि पुलिस ने 6 अप्रैल को राजेश, राजेश की पत्नी धनवंती, राजेश की मां सौरनदे को हिरासत में लिया था। लगातार पूछताछ की जा रही थी। 13 अप्रैल को धनवंती व सौरनदे की गिरफ्तारी डाली गई। 14 अप्रैल को दोनों को एक दिन का पुलिस रिमांड लिया गया। इससे पहले 9 अप्रैल अंजलि को पुलिस ने गिरफ्तार करके 10 को कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने 3 दिन का पुलिस रिमांड लिया। इसके बाद 2 दिन रिमांड बढ़ाया गया। आज तीनों को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

5 अप्रैल को लापता हुआ था जश

5 अप्रैल की दोपहर में मां से पैसे लेकर खाने की चीज खरीदने निकला जश अचानक लापता हो गया था। बच्चे के लापता होने के बाद सबसे पहले एक बाबा पर शक जताया गया। गांव में घूम रहे इस बाबा का थैला काफी बड़ा था। सीसीटीवी फुटेज में थैले का फुलाव और बाबा की तेज चाल देखकर सबको उसी पर शक हुआ। इंद्री पुलिस उसी शाम को बाबा को हिरासत में लेकर थाने ले गई और पूछताछ की। दूसरी तरफ बाबा से जश का सुराग नहीं लगने पर परिवार ने करनाल में नेशनल हाईवे पर जाम लगा दिया था।

अगले दिन पड़ोसियों की छत पर मिली थी लाश

5 साल के बच्चे के लापता होने से जुड़े मामले की गंभीरता देखते हुए पुलिस के आला अधिकारी एक्टिव हो गए। डीएसपी विजय देशवाल ने जाम लगा रहे लोगों को समझा-बुझाकर रास्ता खुलवाया और ग्रामीणों को पुलिस की मदद करने के लिए राजी किया। रात में ही पुलिस ने कलामपुरा गांव की नाकाबंदी करके हर घर की तलाशी लेने का अभियान शुरू किया। कई घंटे के सर्च अभियान के बाद जब 8-10 घर बच गए तो पुलिस ने तय किया कि उनकी तलाशी अगले दिन सुबह ली जाएगी।

अगले दिन यानि 6 अप्रैल की सुबह साढ़े 5 बजे जब गांव में ही रहने वाली कौशल्या अपने पशुओं को चारा डाल रही थी तो उसे अपने पशुओं वाले बाड़े की छत पर कुछ गिरने की आवाज सुनाई दी। कौशल्या के घर के साथ जश के ताऊ राजेश का मकान लगता है। जब उसने इस बारे में राजेश की मां और पत्नी से पूछा तो दोनों ने बताया कि छत पर जश पड़ा है। मौके पर पूरा गांव इकट्‌ठा हो गया। एएसपी हिमांद्री कौशिक फॉरेंसिंक और अन्य टीमों के साथ मौके पर पहुंची। इसके बाद जश की बॉडी पोस्टमार्टम के बाद परिवार को सौंप दी गई थी।

उधर, जश के चाचा ने पुलिस को बताया था कि उनकी तीन महीने पहले खेत की जमीन को लेकर अपने ताऊ के बेटे राजेश से तकरार हो गई थी। उन्हें शक है कि उसी रंजिश में राजेश के परिवार ने जश की हत्या की है। इसके बाद पुलिस ने राजेश और उसके परिवार के तीन सदस्यों को हिरासत में ले लिया था।

गांव ने किया राजेश का बहिष्कार

इस खौफनाक वारदात के बाद कमालपुरा गांव के लोग इतने आक्रोश में आ गए कि उन्होंने आनन-फानन में पंचायत बैठाकर राजेश और उसके परिवार का बहिष्कार कर दिया। इस पंचायत में सर्वसम्मति से राजेश और उसके परिवार के बहिष्कार का फैसला लिया गया। पंचायत में तय हुआ कि कमालपुरा गांव का कोई आदमी या परिवार न तो राजेश के घर जाएगा और न ही उसने अपने यहां बुलाएगा। उसके रिश्तेदारों के भी गांव में आने पर पाबंदी लगा दी गई। पंचायत ने चेतावनी दी कि अगर किसी ने राजेश के परिवार की मदद करने की कोशिश की तो उसके खिलाफ पंचायत एक्शन लेगी। इस बीच करनाल के सभी वकीलों ने भी राजेश या उसके परिवार का केस न लड़ने का ऐलान कर दिया।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here