गुरनाम चढूनी ने केंद्र सरकार को लिखा पत्र: बोले- रेलवे पुलिस और एजेंसी किसानों को कर रही प्रताड़ित; समझौते को पूरा करने का कष्ट करें

0
199
Quiz banner

[ad_1]

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Speak; Railway Police And Agency Are Harassing Farmers; Fulfill The Government Agreement

चंडीगढ़7 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
गुरनाम सिंह चढूनी। - Dainik Bhaskar

गुरनाम सिंह चढूनी।

Advertisement

भारतीय किसान यूनियन ने एक बार फिर केंद्र सरकार पर किसान आंदोलन के दौरान हुए समझौते की वादा खिलाफी के आरोप लगाए हैं। भारतीय किसान यूनियन चढूनी गुट के राष्ट्रीय अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर किसान आंदोलन समझौते को पूर्ण लागू करने की मांग की है।

चढूनी ने अपने पत्र में कहा कि कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के 9 दिसंबर 2021 के माध्यम से केंद्र सरकार व आंदोलनकारियों के बीच हुए लिखित समझौते के अनुसार बिंदु नंबर 2 और 2ए को अभी तक लागू नहीं किया गया है। इसमें सभी प्रकार के आंदोलन से संबंधित सभी केस तत्काल प्रभाव से वापस लेने की सहमति बनी थी।

परंतु अभी तक केंद्र सरकार की तरफ से इस संबंध में कोई आदेश जारी नहीं किया गया है। जिस कारण रेलवे पुलिस व अन्य एजेंसियों द्वारा किसानों को प्रताड़ित किया जा रहा है। इसलिए केंद्र सरकार और किसानों के बीच हुए समझौते को पूर्ण लागू करवाया जाए, ताकि जनता का सरकार पर विश्वास बना रह सके।

केंद्रीय गृह मंत्री को भेजा पत्र

केंद्रीय गृह मंत्री को भेजा पत्र

हरियाणा में दर्ज थे 276 केस

हरियाणा में किसान आंदोलन के समय कुल 276 केस दर्ज किए गए थे। इसमें 4 केस मर्डर और रेप की श्रेणी के हैं, बाकी 272 केसों में 178 की चार्जशीट कोर्ट में दायर की जा चुकी थी और 158 केस अनट्रेस थे। सरकार ने करीब 82 मुकद्दमे वापस ले लिए थे। 82 मामले रेलवे और जीटी रोड के हैं, जिसकी अनुमति के लिए राज्य सरकार ने केंद्र सरकार को पत्र लिखा हुआ है।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here