जंग का मैदान बना एमरजेंसी वार्ड: पानीपत के सिविल अस्पताल का मामला; महिला के मायका पक्ष ने ससुरालियों को पहले घर पर फिर अस्पताल में पीटा

0
364
Quiz banner

[ad_1]

पानीपतएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
सिविल अस्पताल के एमरजेंसी वार्ड में लड़की के मायका पक्ष के लोग ससुराल पक्ष के लोगों को पीटते हुए। - Dainik Bhaskar

सिविल अस्पताल के एमरजेंसी वार्ड में लड़की के मायका पक्ष के लोग ससुराल पक्ष के लोगों को पीटते हुए।

Advertisement

हरियाणा के पानीपत जिले का सिविल अस्पताल कुछ देर के लिए जंग का मैदान बन गया। सिविल अस्पताल की एमरजेंसी वार्ड में एक महिला के मायका पक्ष ने ससुरालियों पर हमला बोल दिया। आरोपी मायका पक्ष के लोगों ने आपसी विवाद के चलते पहले घर पर पीटा। इसके बाद जब वे सिविल अस्पताल मेडिकल जांच करवाने पहुंचे तो आरोपी वहां भी पहुंच गए। जहां एक दर्जन के करीब लोगों ने अधेड़ दंपति और उनके बेटे पर थप्पड़, लात-घुसे बरसा दिए। करीब 10 मिनट तक हंगामा करने के बाद आरोपी गाली-गलौज व जान से मारने की धमकी देते हुए मौके से फरार हो गए।

सिविल अस्पताल के एमरजेंसी वार्ड में दो पक्षों में हुआ झगड़ा।

सिविल अस्पताल के एमरजेंसी वार्ड में दो पक्षों में हुआ झगड़ा।

नहीं पहुंची सिविल अस्पताल चौकी पुलिस
गौरतलब है कि सिविल अस्पताल की इमरजेंसी वार्ड में इन्हीं लड़ाई-झगड़ों को देखते हुए एसपी शशांक कुमार सावन ने अस्पताल के मेन गेट पर अस्थाई तौर पर सिविल चौकी खोली थी। चौकी की दूरी एमरजेंसी वार्ड से करीब 250 मीटर दूरी पर है। मगर, इस चौकी में बैठने वाले मुलाजिम वारदात खत्म होने के बाद भी मौके पर नहीं पहुंचते हैं। पुलिस का ढीला रवैया होली की रात को भी देखने को मिला था। जहां एमरजेंसी वार्ड में निजी एंबुलेंस चालकों द्वारा कई घायलों को पीटा गया था, मगर पुलिस मौके पर नहीं पहुंची थी। वहीं, सिविल अस्पताल के एमरजेंसी वार्ड में तैनात सुरक्षा गार्ड भी इस झगड़े का निपटान करवाने नहीं पहुंचे।

यह है मामला
जानकारी देते हुए बोधराज ने बताया कि वह भोला चौक का रहने वाला है। उसने अपने बेटे दीपक कुमार की शादी बिल्लू कॉलोनी निवासी एक महिला के साथ कुछ ही माह पहले की थी। शादी के बाद से ही दंपति के बीच मन-मुटाव रहने लगा। लड़की की मांग थी कि वह अलग रहेगी। दंपति अलग भी रहने लगी। करीब दो दिन पहले बहू घर के दरवाजे पर संदिग्ध हालत में खड़ी थी, जिसे दीपक ने टोक दिया था। इसी बात को लेकर लड़की ने अपने मायका पक्ष के लोगों को बुला लिया और दीपक समेत सास व ससुर और देवर के साथ मारपीट की। इस मामले का ससुर ने निपटान भी करवा दिया था। मगर आज फिर आरोपी फिर से एकमत होकर लड़की के ससुराल पहुंचे और उन पर हमला बोल दिया। जिसका मेडिकल करवाने के लिए घायल सिविल अस्पताल पहुंचे तो आरोपियों ने वहां भी उन पर हमला कर दिया।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here