पलवल में 46 की उम्र में बना दी बुढ़ापा पेंशन: 5 महिलाओं और विभाग कर्मियों पर केस दर्ज; आयु प्रमाण पत्र जाली मिले, रिकॉर्ड भी गायब

0
208
Quiz banner

[ad_1]

पलवलएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

हरियाणा के पलवल में समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों की मिलीभगत से फर्जी आयु प्रमाण पत्र के आधार पर पांच महिलाओं की बुढ़ापा पेंशन बनाने का मामला पकड़ में आया है। सीएम फ्लाइंग ने इस पूरे मामले की जांच की। अब इंस्पेक्टर की शिकायत पर पांचों महिलाओं के साथ समाज कल्याण विभाग के कर्मचारी के खिलाफ भी कैंप थाने में केस दर्ज कर लिया गया है।

Advertisement

पलवल के कैंप थाना प्रभारी सुरेंद्र सिंह ने बताया कि सीएम फ्लाइंग के इंस्पेक्टर जगदीश ने शिकायत में कहा है कि जलालपुर गांव निवासी खतीजा, आलीमेव गांव निवासी महमूदी, मिंडकोला गांव निवासी नन्नु व मसुमन और घर्रोट गांव निवासी बती देवी की पेंशन वर्ष 2021 में फरवरी से अप्रैल माह में मंजूर की गई थी। पेंशन बनाने के लिए उनके मतदाता पहचान पत्र एवं जिला नागरिक अस्पताल से जारी आयु आंकलन प्रमाण पत्रों में उनकी आयु 60 वर्ष से अधिक साबित करने को आधार बनाया गया है।

कार्यालय में नहीं मिला रिकॉर्ड

सीएम फ्लाइंग की जांच के दौरान पता चला कि जिला समाज कल्याण विभाग ने एक जनवरी 2021 से 31 जुलाई 2021 तक 15 व्यक्तियों की आयु का आंकलन जिला नागरिक अस्पताल से कराया था। उन 15 व्यक्तियों में खतीजा, महमूदी, नन्नु, मसुमन व बती देवी का नाम नहीं है। जांच में पाया गया कि खतीजा के आयु आंकलन प्रमाण पत्र को छोड़कर अन्य के आयु प्रमाण पत्रों पर संबंधित अधिकारियों के हस्ताक्षर तक नहीं है और न ही कोई रिकार्ड कार्यालय में मौजूद है।

आयु प्रमाण पत्र फर्जी मिले

जांच में सभी के आयु प्रमाण पत्र फर्जी पाए गए है। जबकि उक्त के मतदाता पहचान पत्रों की जांच की तो कुछ के वेबसाइट पर उपलब्ध ही नहीं थे। खतीजा का मतदान पहचान पत्र मिला तो उसमें उसकी आयु 8 अप्रैल 2021 को मात्र 46 वर्ष बनती है। शिकायत में कहा गया है कि जांच से साबित होता है कि उपरोक्त व्यक्तियों द्वारा फर्जी दस्तावेजों के आधार पर जिला समाज कल्याण विभाग पलवल के कर्मचारियों व अधिकारियों से मिलीभगत करके बुढ़ापा पेंशन बनाई गई है।

विभागीय कर्मियों पर भी केस दर्ज

पुलिस जांच अधिकारी कमलजीत ने बताया कि सीएम फ्लाईंग के अधिकारी जगदीश की शिकायत पर उक्त पांचों पेंशन धारकों व समाज कल्याण विभाग के अधिकारी व कर्मचारियों के खिलाफ धोखाधड़ी सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। आरोपियों को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया जा सका है।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here