हादसा लील गया जागरण की खुशियां: बड़े भाई के ठीक होने पर विक्रांत के घर में रखा था कार्यक्रम; CNG किट एक्सपर्ट ने बताए 5 कारण

0
224
Quiz banner

[ad_1]

पानीपतएक घंटा पहले

हरियाणा के पानीपत जिले के इसराना कस्बे में रोहतक जाने वाले नेशनल हाईवे पर नई अनाजमंडी के पास दुखद हादसे के बाद घर में जागरण की खुशियां मातम में बदल गईं। हादसे में जिंदा जले तीनों युवकों में से एक के घर शुक्रवार को जागरण था। वहीं CNG किट एक्सपर्ट ने इस हादसे के पीछे 5 कारण गिनाए हैं।।

Advertisement

पानीपत में जिंदा जले 3 लोग:रोहतक हाईवे पर मुड़ रहे ट्रक में पीछे से घुसी कार; टक्कर लगते ही हुई लॉक

पानीपत सिविल अस्पताल पहुंचे सीतमपाल ने बताया कि उसका बेटा विक्रांत (30) प्राइवेट लैब चलाता था। उसके पास हरियाणा के कई जिलों का काम था। वह अक्सर हरियाणा के विभिन्न जिलों में काम से संबंधित जाता था। बिलखते सीतमपाल ने बताया कि विक्रांत के बड़े भाई मनीष का 2014 में एक्सीडेंट हो गया था। हादसे के बाद से वह शारीरिक तौर पर अपंग हो गया था।

बिलखते हुए हादसे की जानकारी देते मृतक विक्रांत के पिता।

बिलखते हुए हादसे की जानकारी देते मृतक विक्रांत के पिता।

वह अब कुछ ठीक हो रहा था, इसीलिए परिवार ने उसके ठीक होने पर जागरण रखा था। जागरण शुक्रवार को उनके गांव नूरवाला की जसवीर कॉलोनी में उनके निवास पर होना था। पर भाग्य को कुछ और ही मंजूर था। विक्रांत का 2 महीने का बेटा है। विक्रांत करीब डेढ साल से सेक्टर-18 में किराये के मकान में रहता था। पिता सीतमपाल इंडियन आर्मी से लांस नायक पद से रिटायर्ड हैं। वह पानीपत इनेलो लेबर प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष हैं।

छह भाई-बहनों में सबसे छोटा था सुगम

विक्रांत के साथ कार में उसकी लैब पर काम करने वाला बराना निवासी सुगम त्यागी (23) भी था। सुगम के पिता राजिंद्र त्यागी का करीब 8 साल पहले बीमारी से देहांत हो चुका है। उसके तीन भाई और तीन बहनें हैं। सुगम सबसे छोटा था। तीनों बहनें विवाहित हैं। दो बड़े भाई भी विवाहित हैं। सुगम और उससे बड़ा भाई अविवाहित थे। दोनों के अलावा कार में पंकज (26) निवासी जलालपुर भी था। पंकज शादीशुदा और दो बच्चों का पिता था।

हादसे में कार में फिट सीएनजी सिलेंडर सुरक्षित बचा।

हादसे में कार में फिट सीएनजी सिलेंडर सुरक्षित बचा।

सीएनजी सिलिंडर फटा नहीं, लीकेज का संशय

वहीं CNG किट एक्सपर्ट अंकुश के मुताबिक आमतौर पर सीएनजी सिलेंडर फटता नहीं है। सिलेंडर वही फटता है जो एक्सपायरी डेट का हो गया होगा। पानीपत में सीएनजी किट लगाने वाले अंकुश इस हादसे के पीछे पांच बड़े कारण मानते हैं।

  • गाड़ी भिड़ने के बाद सबसे पहले बंफर टूटेगा।
  • बंफर की चोट रेडिएटर तक पहुंचेगी और रेडिएटर फटेगा।
  • टक्कर तेज होगी तो रेडिएटर के पेट्रोल पाइप लाइन फटेगी।
  • पेट्रोल पाइप लाइन फटते ही उसके ठीक साथ लगी CNG पाइप लाइन फटेगी।
  • सीएनजी पाइप लाइन फटने के बाद गैस रिसाव होगा और सभी चीजों से मिलाकर आग एकदम भयानक रूप लेगी।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here