30 जून से शुरू होगी अमरनाथ यात्रा: 1992 में अमरनाथ गए दोस्तों ने महसूस किया यात्रा में श्रद्धालुओं काे रहती है खाने-पीने की समस्या ताे संगठन बना शुरू की भंडारे की सेवा

0
182
Quiz banner

[ad_1]

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • Friends Who Went To Amarnath In 1992 Realized That There Is A Problem Of Food And Drink For The Devotees In The Yatra, So The Organization Started The Service Of Bhandara.

अम्बाला8 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

43 दिन चलने वाली अमरनाथ यात्रा 11 अगस्त तक चलेगी काेराेना के 2 साल के बाद 30 जून से अमरनाथ यात्रा शुरू हाे रही है। इसके लिए शहर के कुछ संघ 25 साल से भंडारे की सेवा में याेगदान दे रहे हैं। संघ के लाेगाें ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। शहर के संघाें की तरफ से मुसाफिराें काे 24 घंटे खाना-पानी मुहैया करवाया जाता है।

Advertisement

सिटी का अमरनाथ यात्रा सेवा मंडल 26 साल से अमरनाथ में भंडारे की सेवा कर रहा है। इस बार 27वां भंडारे का अायाेजन हाेगा। प्रधान राजीव अानंद ने बताया कि 1992 के दाैरान कुछ दाेस्ताें का ग्रुप अमरनाथ यात्रा के लिए गया ताे महसूस किया कि यात्रियाें काे खाने व पीने के सामान के लिए समस्या का सामना करना पड़ता है। दाेस्ताें ने विचार किया ताे उसके बाद 1994 में इस सेवा काे शुरू किया।

इस बार 43 दिन तक 24 घंटे भंडारे की सेवा चलेगी। इस सेवा मंडल में प्रधान राजीव अानंद, वाइस प्रेसिडेंट विनय वालिया, अध्यक्ष वरिंद्र कुमार, कैशियर लक्ष्मीनारायण जिंदल, संदीप जिंदल, वनीत गर्ग, अशाेक सिंगला अपनी सेवा दे रहे हैं। यात्रियाें काे 24 घंटे चाय व काॅफी के साथ-साथ खाना भी मुहैया करवाया जाता है। बारी-बारी सभी सदस्याें की ड्यूटी लगती है।ये दस्तावेज जरूरी | दिए फॉर्मेट में भरा एप्लीकेशन फाॅर्म। निश्चित समय में डॉक्टर या मेडिकल संस्थान से प्राप्त मेडिकल सर्टिफिकेट। पासपोर्ट साइज की 4 फोटोग्राफ रजिस्ट्रेशन के लिए http://jksasb.nic.in पर दर्शाए स्टेप्स।

श्री अमरनाथ भंडारा सेवा संघ की पहलगाम में सेवा श्री अमरनाथ भंडारा सेवा संघ 25 साल से लगातार भंडारे की सेवा कर रहा है। पहलगाम में भंडारा लगाया जाता है। सेक्रेटरी विनाेद गाेयल ने बताया कि 2 साल काेराेना की वजह से सेवा नहीं कर पाए थे। इस बार 30 जून काे यात्रा शुरू हाेनी है। संघ की तरफ से वाॅलंटियर 27 जून काे ही रवाना हाे जाएंगे। प्रधान हरीश कुमार, सेक्रेटरी विनाेद गाेयल, चेयरमैन राजेंद्र माेहन बंसल, कैशियर पंकज गुप्ता, राजीव जैन इस सेवा में याेगदान दे रहे हैं।

5 से 49 की उम्र के लोग करा सकते हैं ग्रुप रजिस्ट्रेशन 5 साल से ज्यादा लेकिन 50 साल से कम उम्र के व्यक्ति ग्रुप रजिस्ट्रेशन (समूह पंजीकरण) के लिए आवेदन कर सकते हैं। वहीं, प्रवासी एनआरआई श्रद्धालुओं का रजिस्ट्रेशन चयनित दिवस और रूट के कोटा के आधार पर सुनिश्चित किया जाएगा। एनआरआई श्रद्धालुओं के लिए मेडिकल सर्टिफिकेट आवश्यक है। एडवांस रजिस्ट्रेशन (अग्रिम पंजीकरण) न होने पर श्रद्धालु जम्मू और श्रीनगर में ऑनस्पॉट यानी मौके पर ही रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। अमरनाथ यात्रा के लिए जाने के इच्छुक http://jksasb.nic.in/register.aspx वेबसाइट पर जाकर आसानी से रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

रजिस्ट्रेशन से पहले दी गई हिदायतों को पढ़कर एग्री पर क्लिक करने के बाद आगे एप्लीकेशन फार्म खुलता है तथा फिर ओटीपी के जरिए वेरिफाई करने के बाद आगे की कार्यवाही होती है। हेलीकॉप्टर यात्रा के अतिरिक्त 2 मार्ग प्रतिदिन हर रूट पर 10 हजार श्रद्धालु जा सकते हैं। मेडिकल सर्टिफिकेट के लिए www.shriamarnathjishrine.com वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं। वेबसाइट पर डॉक्टरों और स्वास्थ्य संस्थाओं की लिस्ट दी गई है।

खुल चुके हैं रजिस्ट्रेशन 2 साल से बंद अमरनाथ यात्रा 30 जून से शुरू होने जा रही है। 11 अप्रैल से श्रद्धालुअाें के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू हो चुका है। श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड के मुताबिक पवित्र अमरनाथ यात्रा 30 जून से आरंभ होगी। 43 दिन तक चलने वाली यात्रा का समापन 11 अगस्त को होगा। श्रद्धालु 5 तरह से रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। इनमें एडवांस रजिस्ट्रेशन, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, ग्रुप रजिस्ट्रेशन, एनआरआई रजिस्ट्रेशन, ऑनस्पॉट रजिस्ट्रेशन शामिल हैं। 13 से 75 साल के लोग अमरनाथ यात्रा कर सकते हैं। गर्भवतियों को यात्रा की अनुमति नहीं है।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here